मज़हब

सेवईयों के दोहे हैं..
और बर्फी सी आयतें..
ये हिंदुस्तान है साहब,
चखकर देखिए,
यहाँ हर मज़हब मीठा है।
-नीरज

Comments

Popular Posts